Share
अंतरिक्ष बदल रहा है

अंतरिक्ष बदल रहा है

अंतरिक्ष में आज दुनिया भर के हजारों सैटेलाइट्स हैं, जिनके जरिए हजारों गतिविधियाँ जैसे-मौसम की जानकारी,दूरसंचार, रक्षा,जासूसी आदि पृथ्वी पर संचालित हो रही हैं। इसी दौड़ में अब पूरी दुनिया (विशेषकर विकसित देश) विश्व में अपना प्रभुत्व स्थापित करने के लिए स्पेस वार की योजना बना रहे हैं।

किसने सोचा था कि जिस अंतरिक्ष मे मानव सभ्यता आशंकित रही है,जिसके आंगन में डरते-सकुचाते बीसवीं सदी के आधा बीत जाने पर 1960 में मनुष्य ने पहला कदम रखा था , उसी अंतरिक्ष के जरिए वह पृथ्वी पर लड़ी जा सकने वाली जंग को साकार करने का मंसूबा पालेगा ।

स्पेस वार:-
अगर कोई शत्रु देश किसी अन्य देश पर आक्रमण करता है,तो अंतरिक्ष में पृथ्वी की कक्षा में मौजूद सैन्य उपग्रहों से (लगभग एक हजार पाउन्ड वजन वाला ) बम बिल्कुल सटीक जगह पर दागा जा सकेगा, जो भारी तबाही मचाएगा ।

भारत भी तैयार
पाकिस्तान और चीन से मिल रहीं चुनौतियों के बीच भारतीय सेना भी भविष्य की तैयारी में जुटी है। रक्षा मंत्रालय की टेक्नोलॉजी Perspective And Capability Roadmap -2018 में इस तरह की सैन्य क्षमताओं पर जिक्र किया गया है। ।

By – Student – Ms. Kusum lata yadav
Department –  B.Ed.
UCBMSH B.ED WEBSITE – Uttaranchal College of Education
UCBMSH B.ED Magazine WEBSITE- Uttaranchal College of Education
NURSING WEBSITE – College Of Nursing UCBMSH
UCBMSH WEBSITE – Uttaranchal (P.G.) College Of Bio-Medical Sciences & Hospital
UCBMSH Magazine WEBSITE – (YouthRainBow)
General Knowledge & Current Affairs

Leave a Comment